Uthe Sabke Kadam Lyrics | उठे सब के कदम तारा रम-पम-पम

Uthe Sabke Kadam Lyrics | उठे सब के कदम तारा रम-पम-पम

उठे सबके कदम, तरा रम-पम-पम
अजी ऐसे गीत गाया करो
कभी खुशी कभी ग़म, तरा रम-पम-पम
हंसों और हंसाया करो

वो प्यारे दिन और वो प्यारी रातें
याद हमे हैं वो मुलाकातें
नहीं कोई ग़म मुझे नहीं है गिला
ज़िंदगी की राह में मिला है जबसे तू मेरे हमदम
शबनम हम हैं और तुम शोला बन जाया करो
कभी खुशी …

रँग नया है रूप नया है
जीने का तो जाने कहाँ ढंग गया है
किसे है फ़िकर इन्हें क्या पसंद
प्यार के जहाँ में रज़ामंद जब हम तुम तुम हम
बन गए हैं सनम बेधड़क मेरे घर आया करो
कभी खुशी …

ला ला …

=========

uThe sabake kadam, taraa ram-pam-pam
ajii aise giit gaayaa karo
kabhii khushii kabhii Gam, taraa ram-pam-pam
ha.nso.n aur ha.nsaayaa karo

vo pyaare din aur vo pyaarii raate.n
yaad hame hai.n vo mulaakaate.n
nahii.n koI Gam mujhe nahii.n hai gilaa
zi.ndagii kii raah me.n milaa hai jabase tuu mere hamadam
shabanam ham hai.n aur tum sholaa ban jaayaa karo
kabhii khushii …

ra.Ng nayaa hai ruup nayaa hai
jiine kaa to jaane kahaa.N Dha.ng gayaa hai
kise hai fikar inhe.n kyaa pasa.nd
pyaar ke jahaa.N me.n razaama.nd jab ham tum tum ham
ban gae hai.n sanam bedha.Dak mere ghar aayaa karo
kabhii khushii …

laa laa …

Leave a comment

Your email address will not be published.