Chaudhvin Ka Chand Lyrics

Chaudhvin Ka Chand Lyrics in Hindi

चौदहवीं का चाँद हो, या आफ़ताब हो
जो भी हो तुम खुदा कि क़सम, लाजवाब हो

ज़ुल्फ़ें हैं जैसे काँधे पे बादल झुके हुए
आँखें हैं जैसे मय के पयाले भरे हुए
मस्ती है जिसमे प्यार की तुम, वो शराब हो
चौदहवीं का …

चेहरा है जैसे झील मे खिलता हुआ कंवल
या ज़िंदगी के साज पे छेड़ी हुई गज़ल
जाने बहार तुम किसी शायर का ख़्वाब हो
चौदहवीं का …

होंठों पे खेलती हैं तबस्सुम की बिजलियाँ
सजदे तुम्हारी राह में करती हैं कैकशाँ
दुनिया-ए-हुस्न-ओ-इश्क़ का तुम ही शबाब हो
चौदहवीं का …

=======

chaudahavii.n kaa chaa.Nd ho, yaa aafataab ho
jo bhii ho tum khudaa ki qasam, laajavaab ho

zulfe.n hai.n jaise kaa.Ndhe pe baadal jhuke hue
aa.Nkhe.n hai.n jaise may ke payaale bhare hue
mastii hai jisame pyaar kii tum, vo sharaab ho
chaudahavii.n kaa …

cheharaa hai jaise jhiil me khilataa huaa ka.nval
yaa zi.ndagii ke saaj pe chhe.Dii huii gazal
jaane bahaar tum kisii shaayar kaa Kvaab ho
chaudahavii.n kaa …

ho.nTho.n pe khelatii hai.n tabassum kii bijaliyaa.N
sajade tumhaarii raah me.n karatii hai.n kaikashaa.N
duniyaa-e-husn-o-ishq kaa tum hii shabaab ho
chaudahavii.n kaa …

Published

Leave a comment

Your email address will not be published.