सारी सारी राता जागूँ नींद कोन्या आवे रे लिरिक्स

Bhajan Diary

खाटू वाला श्याम धणी,
तेरी हरपल याद सतावे रे,
सारी सारी राता जागूँ,
नींद कोन्या आवे रे।।

तर्ज – दीनानाथ मेरी बात।



इतनो प्यार देकर क्यों,

दिल से भुलायो रे,
छोड़नो थो म्हाने गर,
खाटू क्यों बुलायो रे,
लीला तेरी बाबा म्हाने,
समझ ना आवे रे,
सारी सारी राता जागु,
नींद कोन्या आवे रे।।



जल बिन मछली तड़पे जइया,

बइया तड़पुं सांवरा,
क्यों रूस्या हो मुख से बोलो,
पूछे थारा टाबरा,
बाबुल के होता सोता,
क्यों जिव यो घबरावे है,
सारी सारी राता जागु,
नींद कोन्या आवे रे।।



या तू बुलाले खाटू म्हाने,

या तू खुद आजा रे,
‘श्याम’ कहवे ‘श्वेता’ के सर,
एक बार हाथ फिरा जा रे,
खुद की गलती याद कर,
नैणा नीर बहावे रे,
सारी सारी राता जागु,
नींद कोन्या आवे रे।।



खाटू वाला श्याम धणी,

तेरी हरपल याद सतावे रे,
सारी सारी राता जागूँ,
नींद कोन्या आवे रे।।

Singer – Shweta Agrawal


Published

Leave a comment

Your email address will not be published.