भगवन आस लगाए कब से लिरिक्स | Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics

भगवन आस लगाए कब से लिरिक्स | Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics


पवन पुत्र हनुमान जी का अति पावन भजन “भगवन आस लगाए कब से लिरिक्स | Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics” – ओमप्रकाश जी बताया गया है।


Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics

भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे है ।
फँसी है बीच भँवर नैया,
भगवान तुमको पुकारे हैं ।।

दर दर ठोकर मैंने खाई,
दर दर जाकर ज्योत जलाई ।
अब तो सुन लो मेरी पुकार,
भगवन बाट निहारे है ।।

भगवन बाट निहारे है,
भगवन आस लगाए कब से ।
देखो बाट निहारे हैं ।।

मैं पापी मुझे देदो सहारा,
दूर बसनो से देदो किनारा ।
भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे हैं ।।

अब तो सुन लो मेरी पुकार,
देखो बाट निहारे हैं ।
भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे हैं ।।

भगवान आस लगाए कब से,
भगवन आस लगाए कब से ।
देखो बाट निहारे है,
फँसी है बीच भँवर नैया ।।


हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्त हनुमान जी ये भजन का यह आर्टिकल “भगवन आस लगाए कब से लिरिक्स | Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए FreeLyrics.in पर visit करे।

Published

Leave a comment

Your email address will not be published.