बारिशों की छम छम में Barisho Ki Cham Cham Me Lyrics in Hindi – Lyrics in Hindi

बारिशों की छम छम में तेरे दर पे आए है
बारिशों की छम छम में तेरे दर पे आए है
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे

बिजली कड़क रही है, हम थम के आए है
बिजली कड़क रही है, हम थम के आए है
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे

(संगीत)

कोई बूढी माँ के संग आया
कोई तनहा हुआ तैयार
कोई आया भक्तो की टोली में
कोई पूरा परिवार

हो हो कोई बूढी माँ के संग आया
कोई तनहा हुआ तैयार
कोई आया भक्तो की टोली में
कोई पूरा परिवार

सबकी आँखे देख रही कब पहुंचे तेरे द्वार

छोटे छोटे बच्चो को, संग लेकर आए है
बारिशों की छम छम में, तेरे दर पे आए है
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे माँ

(संगीत)

काली घनघोर घटाओ से
जम जम कर बरसे पानी
आगे बढ़ते ही जाना है
भक्तो ने यही है ठानी

हो हो काली घनघोर घटाओ से
जम जम कर बरसे पानी
आगे बढ़ते ही जाना है
भक्तो ने यही है ठानी

सबकी आस यही है के मिल जाए तेरा प्यार

भीगी भीगी पलकों पर, सपने सजाए है
बारिशों की छम छम में, तेरे दर पे आए है
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे

(संगीत)

तेरे ऊँचे भवन पे माँ अम्बे
रहते है लगे मेले
मीठा फल वो ही पाते है
जो तकलीफे झेले

तेरे ऊँचे भवन पे माँ अम्बे
रहते है लगे मेले
मीठा फल वो ही पाते है
जो तकलीफे झेले

दुःख पाकर ही, सुख मिलता है भक्ति का ये सार

मैया तेरे दरश के दिवाने आए है
बारिशों की छम छम में, तेरे दर पे आए है
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे

(संगीत)

रिम झिम ये बरस रहा पानी
अमृत के लगे समान
इस अमृत में भीगे पापी
तो बन जाए इंसान

रिम झिम ये बरस रहा पानी
अमृत के लगे समान
इस अमृत में भीगे पापी
तो बन जाए इंसान

कर दे मैया रानी कर दे, हमपे भी उपकार

हमने भी जयकारे, जम जम के लगाए है
बारिशों की छम छम में, तेरे दर पे आए है
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे

Published

Leave a comment

Your email address will not be published.