दो एकम दो Do Ekam Do Lyrics in Hindi – Lyrics in Hindi

Do Ekam Do do Duni Char Lyrics in Hindi

चाहे जितनी उम्र हमारी
पर माँ के है बच्चे सारे
आओ याद करे पहाड़ा वाली को
गिन कर आज पहाड़े

दो एकम दो, दो दुनी चार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार
दो एकम दो, दो दूनी चार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार

दो तिया छ, दो चौके आठ
देखो जी देखो जी मेरी मैया जी के ठाठ
हो बोलो

दो एकम दो, दो दूनी चार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार

चोला लाल मैया का चोला लाल लाल लाल
चोला लाल मैया का चोला लाल लाल लाल

दो एकम दो, दो दूनी चार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार

हो मैया की महिमा है बड़ी महान
जयकारे से गूंजता है सारा जहान
जयकारे से गूंजता है सारा जहान
शेरावाली मैया तेरी ऊँची है शान
बच्चों को ममता को देती वरदान
बच्चों को ममता को देती वरदान

लाल है बिंदिया लाल चुनरिया
जय हो
लाल है बिंदिया लाल चुनरिया
लाली करे कमाल, लाल लाल

चोला लाल मैया का चोला लाल लाल लाल
चोला लाल मैया का चोला लाल लाल लाल

बोलो
दो एकम दो, दो दुनी चार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार

दो पन्जे दस, दो छक्के बारह
भक्तो को मैया ने दिया सहारा
जय हो

दो एकम दो, दो दूनी चार
प्रेम से बोलो मैया जी की जय जयकार

शक्ति की ज्योत देवो ने लगाई
शक्ति की शक्ति ने धूम मचाई
शक्ति की शक्ति ने धूम मचाई
भरते है पानी देवताओं के राजा
राजा इंद्र ने बाल्टी मंगाई
राजा इंद्र ने बाल्टी मंगाई

भैरव करते है निगरानी
जय हो
भैरव करते है निगरानी
लेकर हाथ में भाल, लाल लाल

हो चोला लाल मैया का चोला लाल लाल लाल
हो चोला लाल मैया का चोला लाल लाल लाल

बोलो
दो एकम दो, दो दुनी चार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार

दो सत्ते चौदह, दो अठे सोलह
मैया जी के भजनों मे तन मन डोला

दो एकम दो, दो दुनी चार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार

पवन देव ने आके रसोई बनाई
सूरज की किरणों ने अग्नि जलाई
सूरज की किरणों ने अग्नि जलाई
चंद्रमा की चांदनी ने किया है उजाला
तारी सितारों ने थाली सजाई
तारो सितारों ने थाली सजाई

शेरावाली के भरे भंडारे
जय हो
शेरावाली के भरे भंडारे
करती है मालामाल, लाल लाल

चोला लाल मैया का चोला लाल लाल लाल
चोला लाल मैया का चोला लाल लाल लाल

दो एकम दो, दो दुनी चार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार
दो एकम दो, दो दुनी चार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार

दो नव्वे अठरह, दो दाहे बीस
शक्ति के चरणों मे झुक जाए शीश

दो एकम दो, दो दुनी चार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार
प्रेम से बोलो मैया जी की है जय जयकार

Published

Leave a comment

Your email address will not be published.