दीनानाथ मेरी बात छानी कोणी तेरे से Dinanath Meri Baat Lyrics In Hindi – Lyrics in Hindi

दीनानाथ मेरी बात छानी कोणी तेरे से
आँखड़ली चुराकर बाबा जासी कठे मेरे से

खाटू वाले श्याम तेरी शरण में आ गयो
श्याम प्रभु रूप तेरो नैणां में समां गयो
बिसरावे मत बाबा हार मानी तेरे से
आँखड़ली चुराकर बाबा जासी कठे मेरे से

बालक हूँ मैं तेरो श्याम मुझको निभायले
दुखड़े को मारयो मन्ने कालजे लगायले
पथ दिखलादे बाबा काढ दे अँधेरे से
आँखड़ली चुराकर बाबा क्यूजासी कठे मेरे से

मुरली अधर पे कदम तले झूमे हैं
भक्त खड़ा तेरे चरणां ने चूमे हैं,
खाली हाथ बोल कया जाऊ तेरे डेरे से
आँखड़ली चुराकर बाबा जासी कठे मेरे से

खाओ हो थे खीर चूरमो लीले ऊपर घूमो हो
सेवका न बाबा थे क़द्दे ही कोनी भूलो हो
टाबरियाँ की झोली भर भेजो थारे डेरे से
आँखडली चुरा के बाबा जासी कठे मेरे से
दीनानाथ मेरी बात छानी कोनी तेरे से
आँखडली चुराकर बाबा जासी कठे मेरे से

Published

Leave a comment

Your email address will not be published.