तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ लिरिक्स | Tere Dar ko Mai Chhod Kaha Jau Lyrics

Tere Dar ko Mai Chhod Kaha Jau Lyrics


दुर्गा माता का भजन “तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ लिरिक्स | Tere Dar ko Mai Chhod Kaha Jau Lyrics” लखबीर सिंह लक्खा जी के द्वारा गाया हुआ है। दुर्गा माता का भजन, वीडियो और लिरिक्स दिया गया है।


Tere Dar ko Mai Chhod Kaha Jau Lyrics

तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ ।
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे ।।

अपना दुखडा मै किसको सुनाओ,
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे ।
तेरे दर को मै छोड कहा जाओ,
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे ।।

इक आस मुझे तुमसे है मैया,
टूटे कही न विश्वास मेरा मैया ।
तेरे सिवा कहा झोली फैलाऊ,
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे ।।

तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ ।।

तेरे आगे मैने दामन पसरा है,
मुझको ये मैया तेरा ही सहारा है ।
कहा जाऊ जहा जाके कुछ पाउ,
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे ।।

तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ ।।

मै भी आया मैया बन के सवाली है,
तेरे दर से गया न कोई ख़ाली है ।
कैसे आज में निराश होंके जाऊ,
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे ।।

तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ ।।


हमें उम्मीद है की माँ दुर्गा के भक्तो को यह आर्टिकल “तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ लिरिक्स | Tere Dar ko Mai Chhod Kaha Jau Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Tere Dar ko Mai Chhod Kaha Jau Lyrics ” पर आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए FreeLyrics.in पर visit करे।

Published

Leave a comment

Your email address will not be published.