तुम्हें मोहब्बत Tumhein Mohabbat Lyrics in Hindi – Atrangi Re | Arijit Singh

तुम्हें मोहब्बत Tumhein Mohabbat Lyrics in Hindi – Atrangi Re | Arijit Singh

तेरी आँखों में झाकने वाला
तेरे होठों पे कापने वाला
तेरी बातों में बोले वाला
बाल रातों में खोलने वाला
गरम सांसों में
घुल रहा है जो
वो अकेले में मिल रहा जो

ख़्वाब में आके प्यार करता है
रोज़ सौ बार तुमपे मरता है
ख़्वाब में आके प्यार करता है
रोज़ सौ बार तुमपे मरता है

खिंच के बाजुओं में लेले जो
कान की वालियों से खेले जो

हक जताता है जो सभी तुमपे
पुछना चाहता हूं मैं तुमसे
हक जताता है जो सभी तुमपे
पुछना चाहता हूं मैं तुमसे

कौन है कैसा
कौन है कैसा
कैसा दिखता है

कौन है कैसा
कैसा दिखता है

जनता हूं के नहीं
मैं वो नहीं
मैं वो नहीं

वो की जिस से
तुम्हें मोहब्बत है
तुम्हें मोहब्बत है

Teri aankhon mein jhaakne wala
Tere hothon pe kaapne wala
Teri baaton mein bolne wala
Baal raaton mein kholne wala

Hmm hmm..
Hmm hmm..

Garm saanson mein
Ghull raha hai jo
Woh akele mein mil raha jo

Khwaab mein aake pyaar karta hai
Roz sau bar tumpe marta hai
Khwaab mein aake pyaar karta hai
Roz sau bar tumpe marta hai

Khinch ke bajuon mein le le jo
Kaan ki waalion se khele jo

Haq jaata tha hai jo sabi tumpe
Puchhna chahta hoon main tumse
Haq jaata tha hai jo sabi tumpe
Puchhna chahta hoon main tumse

Kaun hai kaisa
Kaun hai kaisa
Kaisa dikhta hai
Kaun hai kaisa kaisa dikhta hai

Jaanta hoon ke nahi
Main woh nahi
Main woh nahi

Woh ki jisse tumhe mohabbat hai
Tumhe mohabbat hai

Leave a comment

Your email address will not be published.