जिस पर हो हनुमान की कृपा लिरिक्स | Jis Par Ho Hanuman Ki Kripa Lyrics

जिस पर हो हनुमान की कृपा लिरिक्स | Jis Par Ho Hanuman Ki Kripa Lyrics


पवन पुत्र हनुमान जी का अति पावन भजन “जिस पर हो हनुमान की कृपा लिरिक्स | Jis Par Ho Hanuman Ki Kripa Lyrics” – लखबीर सिंह लक्खा जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में श्रीराम के सबसे बड़े भक्त हनुमान जी की राम भक्ति बताया गया है।


Jis Par Ho Hanuman Ki Kripa Lyrics

जिस पर हो हनुमान की कृपा,
तकदीर का धनी वो नर है ।
रखवाला हो मारुती नंदन,
फिर किस बात का डर है ।।

भजन पवन सुत का कीजिए ।
नाम अमृत का प्याला पीजिए ।।

शीश मुकुट कान में कुण्डल,
लाल सिन्दूर से काया ।
लाल लंगोटे वाला हनुमत,
माँ अंजनी का जाया ।।

नाश करे दुष्टों का,
भक्तों का भय लेता हर है ।
रखवाला हो मारुती नंदन,
फिर किस बात का डर है ।।

भजन पवन सुत का कीजिए ।
नाम अमृत का प्याला पीजिए ।।

आई घड़ी जब जब दुविधा की,
राम के काम बनाए ।
मात सिया वरदान दिया,
संकट मोचन कहलाए ।।

पूजा मंगल शनि करे,
मंगल होता उस घर है ।
रखवाला हो मारुती नंदन,
फिर किस बात का डर है ।।

भजन पवन सुत का कीजिए ।
नाम अमृत का प्याला पीजिए ।।

बल देते हो निर्बल को,
निर्धन को माया देते ।
रोग कष्ट कटते रोगी को,
निर्मल काया देते ।।

लख्खा की भी सुध लेना,
चरणों का सरल चाकर है ।
रखवाला हो मारुती नंदन,
फिर किस बात का डर है ।।

भजन पवन सुत का कीजिए ।
नाम अमृत का प्याला पीजिए ।।

जिस पर हो हनुमान की कृपा,
तकदीर का धनी वो नर है ।
रखवाला हो मारुती नंदन,
फिर किस बात का डर है ।।

भजन पवन सुत का कीजिए ।
नाम अमृत का प्याला पीजिए ।।


हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्त हनुमान जी ये भजन का यह आर्टिकल “जिस पर हो हनुमान की कृपा लिरिक्स | Jis Par Ho Hanuman Ki Kripa Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “Jis Par Ho Hanuman Ki Kripa Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए FreeLyrics.in पर visit करे।

Published

Leave a comment

Your email address will not be published.