कारज सिद्ध करो गणपति जी महाराज लिरिक्स | Karaj Siddh Karo Ganpati Ji Maharaj Lyrics

Karaj Siddh Karo Ganpati Ji Maharaj Lyrics

भगवान गणेश “कारज सिद्ध करो गणपति जी महाराज लिरिक्स | Karaj Siddh Karo Ganpati Ji Maharaj Lyrics” रश्मि योगिनी जी के द्वारा गाया हुआ है। इस भजन में गणेश जी का अपने कारज में आमंत्रित किया जा रहा और उन्हें प्रसन्न किया जा रहा है।


Karaj Siddh Karo Ganpati Ji Maharaj Lyrics

हे गण नायक सिद्धि विनायक,
गौरी सुत गणराज ।
विघ्न विनाशक मंगल कारक,
गणपति जी महाराज ।।

कारज सिद्ध गणपति जी ।
कारज सिद्ध करो ।।

सब से पहले होती पूजा,
बुद्धि के हो भण्डार ।
इसीलिए तो देवों के तुम हो सरताज
कारज सिद्ध करो ।।

कारज सिद्ध गणपति जी ।
कारज सिद्ध करो ।।

रिद्धि सिद्धि के स्वामी तुम,
लम्बोदर शिव गणेश ।
पार्वती हैं माता आप की,
पिता जी लागे महेश ।।

कारज सिद्ध गणपति जी ।
कारज सिद्ध करो ।।

हे जगवंदन गोरी नंदन,
सुन लो हमरी पुकार ।
भक्त पड़ा है संकट में,
उठा लो प्रभु जी भार ।।

कारज सिद्ध गणपति जी ।
कारज सिद्ध करो ।।

सोहे तेरे शीश मुकट,
और कुल्हाठी हाथ ।
अनुशासन में ना रहे,
उसे बाँधी रसी ख़ास ।।

कारज सिद्ध गणपति जी ।
कारज सिद्ध करो ।।

जो भी करे नित प्रेम से,
गणपति तेरा ध्यान ।
खुश हो जाते शीघ्र तुम जो,
मोदक दे परशाद ।।

कारज सिद्ध गणपति जी ।
कारज सिद्ध करो ।।


हमें उम्मीद है की गणेश जी के भक्तो को यह आर्टिकल “कारज सिद्ध करो गणपति जी महाराज लिरिक्स | Karaj Siddh Karo Ganpati Ji Maharaj Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Karaj Siddh Karo Ganpati Ji Maharaj Lyrics ” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए FreeLyrics.in पर visit करे।

Published

Leave a comment

Your email address will not be published.