कच्चे धागो का बंधन ना समझो इसे राखी गीत लिरिक्स

कच्चे धागो का बंधन ना समझो इसे राखी गीत लिरिक्स



कच्चे धागो का बंधन,
ना समझो इसे,
प्यारी बहना का इसमें,
मिला प्यार है,
भाई बहना की रक्षा,
का लेता वचन,
रक्षाबंधन का,
पावन ये त्यौहार है,
कच्चे धागों का बंधन,
ना समझो इसे,
प्यारी बहना का इसमें,
मिला प्यार है,
कच्चे धागों का बंधन।।

तर्ज – रश्के कमर।



राखियाँ होती,

बहनों के अभिमान की,
भाई बाजी,
लगा देते है जान की,
हाथ सर पे,
जो रखकर के खाते कसम,
मिले दुनिया में,
बहनों को अधिकार है,
कच्चे धागों का बंधन,
ना समझो इसे,
प्यारी बहना का इसमें,
मिला प्यार है,
कच्चे धागों का बंधन।।



सारी दुनिया की,

दौलत कमाई मिली,
बड़ी किस्मत से,
बहनो को भाई मिले,
प्रीत की डोर,
पावन बड़े प्रेम की,
बस इस पे टिका,
सारा संसार है,
कच्चे धागों का बंधन,
ना समझो इसे,
प्यारी बहना का इसमें,
मिला प्यार है,
कच्चे धागों का बंधन।।



जब कन्हैया ने,

द्रोपत को माना बहन,
मरते दम तक,
निभाया बहन का वचन,
कहे ‘शर्मा बिजेंद्र’,
बहन के बिना,
नहीं फुले फले,
कोई परिवार है,
कच्चे धागों का बंधन,
ना समझो इसे,
FreeLyrics.in,
प्यारी बहना का इसमें,
मिला प्यार है,
कच्चे धागों का बंधन।।



कच्चे धागो का बंधन,

ना समझो इसे,
प्यारी बहना का इसमें,
मिला प्यार है,
भाई बहना की रक्षा,
का लेता वचन,
रक्षाबंधन का,
पावन ये त्यौहार है,
कच्चे धागों का बंधन,
ना समझो इसे,
प्यारी बहना का इसमें,
मिला प्यार है,
कच्चे धागों का बंधन।।

Singer – Chandan Sharma


Published

Leave a comment

Your email address will not be published.