ओम जय धन्वंतरि देवा की आरती लिरिक्स | Om Jai Dhanvantari Deva Ki Aarti Lyrics

ओम जय धन्वंतरि देवा की आरती लिरिक्स | Om Jai Dhanvantari Deva Ki Aarti Lyrics


धन्वंतरि देवा की आरती “ओम जय धन्वंतरि देवा आरती लिरिक्स | Om Jai Dhanvantari Deva Ki Aarti Lyrics” Prakriti Sharma जी के द्वारा गायी हुई है। आरती के लिरिक्स हिंदी में वीडियो के साथ दिए हुए है।

Om Jai Dhanvantari Deva Ki Aarti Lyrics

ओम जय धन्वंतरि देवा,
स्वामी जय धन्वंतरि देवा ।
जरा रोग से पीड़ित,
जन जन सुख देवा ।।

ओम जय धन्वंतरि देवा ।
स्वामी जय धन्वंतरि देवा ।।

तुम समुद्र से निकले,
अमृत कलश लिए ।
देवासुर के संकट,
आकर दूर किए ।।

ओम जय धन्वंतरि देवा ।
स्वामी जय धन्वंतरि देवा ।।

आयुर्वेद बनाया,
जग में फैलाया ।
सदा स्वस्थ रहने का,
साधन बतलाया ।।

ओम जय धन्वंतरि देवा ।
स्वामी जय धन्वंतरि देवा ।।

भुजा चार अति सुंदर,
शंख सुधा धारी ।
आयुर्वेद वनस्पति,
से शोभा भारी ।।

ओम जय धन्वंतरि देवा ।
स्वामी जय धन्वंतरि देवा ।।

तुम को जो नित ध्यावे,
रोग नहीं आवे ।
असाध्य रोग भी उसका,
निश्चय मिट ।।

ओम जय धन्वंतरि देवा ।
स्वामी जय धन्वंतरि देवा ।।

हाथ जोड़कर प्रभु जी,
दास खड़ा तेरा ।
वैद्य-समाज तुम्हारे,
चरणों का घेरा ।।

ओम जय धन्वंतरि देवा ।
स्वामी जय धन्वंतरि देवा ।।

धन्वंतरि जी की आरती,
जो कोई नर गावे ।
रोग-शोक ना आवे,
सुख-समृद्धि पावे ।।

ओम जय धन्वंतरि देवा ।
स्वामी जय धन्वंतरि देवा ।।

ओम जय धन्वंतरि देवा,
स्वामी जय धन्वंतरि देवा ।
जरा रोग से पीड़ित,
जन जन सुख देवा ।।

ओम जय धन्वंतरि देवा ।
स्वामी जय धन्वंतरि देवा ।।


हमें उम्मीद है की सभी भक्तो को यह आर्टिकल “धन्वंतरि देवा की आरती लिरिक्स | Om Jai Dhanvantari Deva Ki Aarti Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। Om Jai Dhanvantari Deva Ki Aarti Lyrics के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए FreeLyrics.in पर visit करे।

Published

Leave a comment

Your email address will not be published.